How To Enable Extra Keys And Any Key In Termux | In Hindi

 मुख पृष्ठ  Termux Tutorial Enable Extra Keys  Termux में अतिरिक्त कुंजियों को कैसे सक्षम करें और किसी भी कुंजी को Termux मे

Read more

संपूर्ण कवच- “श” से “ह” तक

 मुख पृष्ठ  संपूर्ण कवच  “श” से “ह” तक  ॥ 卐 ॥॥ श्री गणेशाय नमः ॥॥ श्री कमलापति नम: ॥॥ श्री जानकीवल्लभो विजयते

Read more

संपूर्ण कवच “भ” से “व” तक

आपके चारों ओर नकारात्मकता को खत्म करने के लिए एक शक्तिशाली मंत्रो के संग्रह को कवच कहते है। यह किसी भी बुरी आत्माओं से रक्षा करने में एक कवच के रूप में कार्य करता है।

Read more

१८. स्वर्गारोहणपर्व- महाभारत

॥ 卐 ॥॥ श्री गणेशाय नमः ॥॥ श्री कमलापति नम: ॥॥ श्री जानकीवल्लभो विजयते ॥॥ श्री गुरूदेवाय नमः ॥ दान

Read more

धनतेरस पूजा विधि, आरती और मंत्र- 2023 | Dhanteras Puja Vidhi

हमारे देश हिन्दुस्तान में धनतेरस को बहुत श्रद्धा के साथ मनाया जाता है। इस दिन माता लक्ष्मी, गणेशजी, कुबेर देवता और धन्वंतरि जी की विधि-विधान से पूजा की जाती है।

Read more

१७. महाप्रास्थानिकपर्व- महाभारत

॥ 卐 ॥॥ श्री गणेशाय नमः ॥॥ श्री कमलापति नम: ॥॥ श्री जानकीवल्लभो विजयते ॥॥ श्री गुरूदेवाय नमः ॥ दान

Read more

१६. मौसलपर्व- महाभारत

॥ 卐 ॥॥ श्री गणेशाय नमः ॥॥ श्री कमलापति नम: ॥॥ श्री जानकीवल्लभो विजयते ॥॥ श्री गुरूदेवाय नमः ॥ दान

Read more

Chhath Puja 2023: छठ पूजा विधि, मंत्र, आरती और कथा

एकमात्र ऐसा त्यौहार जो भगवान को श्रद्धांजलि देता है जो पृथ्वी पर प्रकाश और ऊर्जा लाता है, छठ पूजा में कई अनुष्ठान शामिल हैं जिसमे वैदिक देवता-सूर्य की पूजा कार्तिकेय के महीने में 4 दिनों तक की जाती है जो आमतौर पर अक्टूबर या नवंबर में पड़ता है।

Read more

धनतेरस की पौराणिक कथा- 2 | Dhanteras ki katha

धनतेरस प्रकृति जब चाहती है तो वह किसी के भी साथ कुछ भी कर सकती है वह चाहे तो राजा को भिखारी और भिखारी को राजा बना देती है ऐसे ही एक कहानी एक गरीब किसान की भी थी।

Read more

धनतेरस की पौराणिक कथा- 1 | Dhanteras ki katha

कहते है प्रकृति जब स्वयं चाहती है तब ही कुछ घटनाऐ घटती है। और तब ही आप कुछ नया ज्ञान आपको सीखने को भी मिलता है। ऐसा ही कुछ मेरे साथ भी हुआ था आज से लगभग 22 से 25 बर्ष पहले।

Read more

१५. आश्रमवासिकपर्व- महाभारत

आश्रमवासिकपर्व में भाइयों समेत युधिष्ठिर और कुन्ती द्वारा धृतराष्ट्र तथा गान्धारी की सेवा, व्यास जी के समझाने पर धृतराष्ट्र, गान्धारी और कुन्ती को वन में जाने देना, वहाँ जाकर इन तीनों का ॠषियों के आश्रम में निवास करना,

Read more

Metasploit Framework | Updated- 2023 | In Hindi

Metasploit सिर्फ एक Termux टूल से कहीं अधिक है। यह हैकिंग उपकरणों का एक संग्रह है, मैं मेटास्प्लोइट को एक बुनियादी ढांचा कहूंगा जिसका उपयोग आप अपने उपकरण बनाने के लिए कर सकते हैं।

Read more

१४. आश्वमेधिकपर्व- महाभारत

आश्वमेधिकपर्व में महर्षि व्यास द्वारा यज्ञ के लिए धन प्राप्त करने का उपाय युधिष्ठिर से बताना, अर्जुन द्वारा कृष्ण से गीता का विषय पूछना, श्री कृष्ण द्वारा अनेक आख्यानों द्वरा अर्जुन का समाधान करना, ब्राह्मणगीता का उपदेश, अन्य आध्यात्मिक बातें, अर्जुन द्वारा कृष्ण से गीता का विषय पूछना, ब्राह्मणगीता का उपदेश।

Read more

दीपावली पूजन विधि और मंत्र | Diwali Poojan Vidhi Aur Mantr

कलावा, रोली, सिंदूर, एक नारियल, अक्षत, लाल वस्त्र , फूल, पांच सुपारी, लौंग, पान के पत्ते, घी, कलश, कलश हेतु आम का पल्लव, चौकी, समिधा, हवन कुण्ड, हवन सामग्री, कमल गट्टे, पंचामृत (दूध, दही, घी, शहद, गंगाजल), फल, बताशे, मिठाईयां, पूजा में बैठने हेतु आसन, हल्दी, अगरबत्ती, कुमकुम, इत्र, दीपक, रूई, आरती की थाली। कुशा, रक्त चंदनद, श्रीखंड चंदन।

Read more

दीपावली पर्व की कथा | Diwali Parv kee Katha

मित्रों! सनातन धर्म जो है वो सत्य, संस्कार, शास्त्रों और पौराणिक कथाओं का एक भण्डार है। आप जितना ही इसे समझने का प्रयास करेंगे उतना ही सत्य आपके समक्ष आता ही रहेगा। चलिए हम आज के सत्य और पौराणिक कथा पर आते है।

Read more

संपूर्ण कवच- “द” से “भ” तक

आपके चारों ओर नकारात्मकता को खत्म करने के लिए एक शक्तिशाली मंत्रो के संग्रह को कवच कहते है। यह किसी भी बुरी आत्माओं से रक्षा करने में एक कवच के रूप में कार्य करता है।

Read more

संपूर्ण कवच- “अ” से “त्र” तक

आपके चारों ओर नकारात्मकता को खत्म करने के लिए एक शक्तिशाली मंत्रों के संग्रह को कवच कहते है। यह किसी भी बुरी आत्माओं से रक्षा करने में एक कवच के रूप में कार्य करता है।

Read more

रावण के अन्तिम संवाद | Raavan Ke Antim Samvaad

कुछ समय पूर्व की बात है। या यूं कहें कि कुछ युग पूर्व की बात है। उस समय एक अजीब सा कोलाहल इस विश्व में हुआ था जब धरती भी मानो अपनी धूरी से लगभग 8-10 फुट तक नीचे धस गई थी और सागर, नदी, तालाब, कूएँ सभी के जल भी मानो आकाश को स्पर्श कर रहे हो।

Read more

दशानन- लंकापति रावण संपूर्ण कथा | The Ravan Full Story

भारतीय पौराणिक कथाएं साधारण अच्छाई और बुराई से परे है। हिन्दू पुराणों में हर कदम पर एक दिलचस्प कहानी है। ऐसी ही एक कहानी लंकापति रावण की है। रावण ने खलनायक की भूमिका निभाई,

Read more

१३. अनुशासनपर्व- महाभारत

भीष्म युधिष्ठिर को नाना प्रकार से तप, धर्म और दान की महिमा बतलाते हैं और अन्त में युधिष्ठिर पितामह की अनुमति पाकर हस्तिनापुर चले जाते हैं। इसमें भीष्म के पास युधिष्ठिर का जाना, युधिष्ठिर की भीष्म से बात, भीष्म का प्राणत्याग, युधिष्ठिर द्वारा उनका अन्तिम संस्कार।

Read more

नवदुर्गा- संपूर्ण कथा नौवीं सिद्धिदात्री | Navadurga

 मुख पृष्ठ  पोस्ट  नवदुर्गा  नौवीं सिद्धिदात्री  नवदुर्गा- नौवीं सिद्धिदात्री ।हिन्दी।।English। नवरात्रि पर्व में माँ दुर्गा की नौवीं शक्ति का नाम “सिद्धिदात्री” हैं। माता

Read more

१२. शान्तिपर्व- महाभारत

शान्ति पर्व में युद्ध की समाप्ति पर युधिष्ठिर का शोकाकुल होकर पश्चाताप करना, श्री कृष्ण सहित सभी लोगों द्वारा उन्हें समझाना, युधिष्ठिर का नगर प्रवेश और राज्याभिषेक, सबके साथ पितामह भीष्म के पास जाना, भीष्म के द्वारा श्रीकृष्ण की स्तुति, भीष्म द्वारा युधिष्ठिर के प्रश्नों का उत्तर तथा उन्हें राजधर्म, आपद्धर्म और मोक्षधर्म का उपदेश करना आदि वर्णित है।

Read more

नवदुर्गा- संपूर्ण कथा आठवीं महागौरी | Navadurga

नवरात्री पर्व में माँ दुर्गाजी की आठवीं शक्ति का नाम “महागौरी” है। शास्त्रों में दुर्गापूजा के आठवें दिन महागौरी की उपासना का विधान है। इस दिन महागौरी शक्ति की पूजा की जाती है। नाम से प्रतीत होता है कि इनका रूप पूर्णतः गौर वर्ण का है। इनकी उपमा शंख, चन्द्र और कुन्द के फूल से दी गई है। अष्टवर्षा भवेद् गौरी यानी इनकी आयु केवल आठ साल की ही मानी गई है। इनके सभी आभूषण और वस्त्र सफेद रंग के हैं। इसीलिए उन्हें श्वेताम्बरधरा भी कहा गया है। इनकि चार भुजाएँ सुशोभित हैं और इनका वाहन वृषभ है इसीलिए शास्त्रों मे इनको वृषारूढ़ा भी कहा गया है।

Read more

११. स्त्रीपर्व- महाभारत

स्त्रीपर्व में दुर्योधन की मृत्यु पर धृतराष्ट्र का विलाप, स्त्रियों और प्रजा के साथ धृतराष्ट्र का युद्ध भूमि में जाना, श्री कृष्ण, पाण्डवों और अश्वत्थामा से उनकी भेंट, पाण्डवों का कुन्ती से मिलना, द्रौपदी, गान्धारी आदि स्त्रियों का विलाप, व्यास के वरदान से गान्धारी द्वारा दिव्यदृष्टि से युद्ध में निहत अपने पुत्रों और अन्य योद्धाओं को देखना तथा शोकातुर हो क्रोधवश शाप देना, युधिष्ठिर द्वारा मृत योद्धाओं का दाहसंस्कार और जलांजलिदान, कुन्ती द्वारा अपने गर्भ से कर्ण की उत्पत्ति का रहस्य बताना, युधिष्ठिर द्वारा कर्ण के लिए शोक प्रकट करते हुए उसका श्राद्ध कर्म करना और स्त्रियों के मन में रहस्य न छिपने का शाप देना आदि वर्णित है।

Read more

नवदुर्गा- संपूर्ण कथा सातवीं कालरात्रि | Navadurga

शास्त्रों मे कहा गया है कि कालरात्रि की उपासना करने मात्र से ब्रह्माण्ड की सारी सिद्धियों के दरवाजे खुलने लगते हैं और तमाम असुरी शक्तियां भी उनके नाम के उच्चारण से ही भयभीत होकर दूर भागने लगती हैं।

Read more